100+ Tere Khayalon Mein Shayari in Hindi

“100+ Tere Khayalon Mein Shayari” is a heartfelt collection of verses that find their home in the beautiful realm of your thoughts. With over a hundred poetic expressions, this anthology celebrates the intimacy, longing, and dreams that reside in the depths of one’s mind. Each shayari is a tender whisper into the sanctuary of your thoughts, capturing the essence of love, desire, and imagination that blooms when one is lost in reverie. Whether you seek to express your deepest feelings or simply appreciate the beauty of daydreams, this collection offers a treasure trove of emotions that resonate within the chambers of your heart.

Tere Khayalon Mein Shayari

जब खामोश आँखो से बात होती है
ऐसे ही मोहब्बत की शुरुआत होती है
तुम्हारे ही ख़यालो में खोए रहते हैं
पता नही कब दिन और कब रात होती है…

मेरे वजूद मे काश तू उतार जाए
मे देखु आईना ओर तू नज़र आए
तू हो सामने और वक़्त ठहर जाए
ये ज़िंदगी तुझे यू ही देखते हुए गुज़र जाए…

जाने कभी गुलाब लगती हे
जाने कभी शबाब लगती हे
तेरी आखें ही हमें बहारों का ख्बाब लगती हे
में पिए रहु या न पिए रहु
लड़खड़ाकर ही चलता हु
क्योकि तेरी गली कि हवा ही मुझे शराब लगती हे..

आँखों मे आ जाते है आँसू,
फिर भी लबो पे हसी रखनी पड़ती है
ये मोहब्बत भी क्या चीज़ है यारो,
जिस से करते है उसीसे छुपानी पड़ती है…

ना हम कुछ कह पाते हे, ना वोह कुछ कह पाते हे
एक दूसरे को देखकर गुजर जाया करते हे
कब तक चलता रहेंगा ये सिलसिला
ये सोचकर दिन गुजर जाया करते हे..

शायर तो हम है शायरी बना देंगे
आपको शायरी मे क़ैद कर लेंगे
कभी सूनाओ हमे अपनी आवाज़
आपकी आवाज़ को हम ग़ज़ल बना देंगे..

जादू है उसकी हर एक बात मे
याद बहुत आती है दिन और रात मे
कल जब देखा था मैने सपना रात मे
तब भी उसका ही हाथ था मेरे हाथ मे…

तुम्हे देखा तुम्हे चाहा तुम्ही को दिल भी दे डाला
अब अरमान है इतना कि तुम मेरे सामने आओ
कुछ तुम कहो कुछ हम कहे इकरार हो जाए
मिट जाए सारी दूरियां और प्यार हो जाए..

घर से बाहर कोलेज जाने के लिए वो नकाब मे निकली…
सारी गली उनके पीछे निकली…
इनकार करते थे वो हमारी मोहबत से…
और हमारी ही तसवीर उनकी किताब से निकली…

Leave a Comment