100+ Success Shayari in Hindi

100+ Success Shayari is a collection of inspirational and motivational Hindi poetry that celebrates achievement and triumph. These concise verses offer words of encouragement, resilience, and determination to inspire individuals on their journey to success. Perfect for boosting morale and self-belief, this compilation is a treasure trove of wisdom in just a few lines.

Success Shayari

जो हो गया उसके लिए सोचा नहीं करते
जो मिल गया उसे कभी खोया नहीं करते
हासिल उन्हे होती है Success….
जो वक्त और Situation पर रोया नहीं

Success

असफलताए इंसान को तोड़ देती है,
जीवन की राहों को नया मोड़ देती है,
जो करते हैं, जी-जान से प्रयास पूरा,
असफलताएं उनका पीछा छोड़ देती है।

परिंदो को मंज़िल मिलेगी यकीन
ये फैले हुए उनके पर बोलते है..
अक्सर वो लोग खामोश रहते है
ज़माने में जिनके हुनर बोलता है

न जाने कैसे परखता है
मुझे मेरा खुदा
इम्तेहान भी लेता है और
मुझे Fail होने भी नहीं देता

राह-ए-ज़िन्दगी में ऐसे मोड़ भी आते है,
सीधे रखे कदम भी डगमगा जाते है,
बहके कदमो को जो संभाल पाते है,
वो मुक़म्मल इंसान कहलाते है।

हदे शहर से निकली तो गाँव गांव चली
कुछ यादे मेरे संग पाँव पाँव चली
सफर जो धुप का हुआ तो तजुर्बा हुआ
वो ज़िन्दगी ही क्या जो छांव छांव चली l

जिंदगी में किसी से अपनी तुलना मत करना
जैसे चाँद और सूरज की तुलना
किसी से नहीं की जा सकती
क्योकि यह अपने समय पर ही चमकते है

एक सपना जादू से हकीकत नहीं बन सकता,
इसमें पसीना, दर्द, संकल्प और कड़ी मेहनत लगती है,
पसीने की स्याही से जो लिखते हैं इरादें को,
उसके मुक्कद्दर के सफ़ेद पन्ने कभी कोरे नहीं होते।

क्यों डरे कि ज़िन्दगी में क्या होगा
हर वक्त क्यों सोचे कि क्या होगा
बढ़ते रहे बस मंजिलो की ओर
हमें कुछ मिले या ना मिले तजुर्बा तो नया होगा

ज़िन्दगी का हर शौक पाला नहीं जाता,
कांच की बोतल को हवा में उछाला नहीं जाता
मेहनत करने से रास्ते हो जाते है आसान
क्यूंकि हर काम किस्मत पे टाला नहीं जाता

मुश्किल इस दुनिया में कुछ भी नहीं,
फिर भी लोग अपने ईरादे तोड़ देते है,
अगर सच्चे दिल से हो चाहत कुछ पाने की,
तो सितारे भी अपने जगह छोड़ देते है।

चलता रहूँगा पथ पर
चलने में माहिर बन जाऊंगा..
या तो मंजिल मिल जायेगी
या अच्छा मुसाफिर बन जाऊंगा

मत पूछो कि मेरी मंजिल कहाँ है
अभी तो चलने का इरादा किया है
कभी ना हारूंगा हिम्मत उम्र भर
ये मैंने किसी से नहीं
अपने आप से वादा किया है

मुश्किलें दिल के इरादें आज़माती है,
स्वप्ना के परदे निगाहों से हटाती है,
हौसला मत हार गिर कर वो मुसाफिर,
ठोकरें इंसान को चलना सिखाती है।

माना यु हताश होकर चलना thoda भारी रहेगा
सफ़र जरी है तो भाई संघर्ष भी जारी रहेगा

जिनमे अकेले चलने के हुनर होते है,
अंत में उनके पीछे काफिले होते है,
भंवर से लड़ो तुंद लहरों से उलझो,
कहाँ तक चलोगे किनारे-किनारे।

बदल जाओ वक्त के साथ
या फिर वक़्त बदलना सीखो
मजबूरियों को मत कोसो
हर हाल में चलना सीखो

कुछ कर के दिखा दिया, की काम बहुत हैं,
इस जहाँ मैं जीतने वाले मुक़ाम बहुत हैं,
मुकम्मल शख्स वही जो दुनिया को बदल डाले,
रोज़ मर मिटने वाले नाम बहुत हैं।

उठो तो ऐसे उठो
कि फ़िक्र हो बुलंदी को..
झुको तो ऐसे झुको,
कि बंदगी भी नाज़ करे

रहने दे आसमान ज़मीन की तलाश कर,
सब कुछ यही है ना कही और तलाश कर,
हर आरज़ू पूरी हो तो जीने का क्या मज़ा,
जीने के लिए बस एक कमी की तलाश कर।

Success

आँखों में मंजिल थी,
गिरे और सँभालते रहे
आँधियों में क्या दम था
चिराग हवा में भी जलते रहे

हर जज्बात को जुबान नहीं मिलती,
हर आरजू को दुआ नहीं मिलती,
मुस्कान बनाये रखो तो साथ है दुनिया,
वर्ना आंसुओ को तो आंखो मे भी पनाह नहीं मिलती।

यूँ ज़मीन पर बैठकर क्यों आसमान देखता है
पंखो को खोल ज़माना सिर्फ उड़ान देखता है

जो खो गया, उसके लिए रोया नहीं करते,
जो पा लिया, उसे खोया नहीं करते,
उनके ही सितारे चमकते हैं,
जो मजबूरियों का रोना रोया नहीं करते।

आँखों में पानी रखो, होंठो पे चिंगारी रखो..
ज़िंदा रहना है तो तरकीबे बहुत सारी रखो
राह के पत्थर से बढ़के कुछ नहीं है मंजिले
रास्ते आवाज़ देते है, सफर जारी रखो

तेरे गिरने में तेरी हार नहीं,
तू आदमी है अवतार नहीं,
गिर, उठ, चल, दौड़, फिर भाग
क्योंकि जीत संक्षिप्त है इसका कोइ सार नहीं।

दुनिया का हर शौक पाला नहीं जाता,
कांच के खिलोनो को हवा में उछाला नहीं जाता
मेहनत करने से मुश्किलें हो जाती है आसान
क्यूंकि हर काम तकदीर पे टाला नहीं जाता

नजर-नजर में उतरना कमाल होता है,
नफ़स-नफ़स में बिखरना कमाल होता है,
बुलंदियों पे पहुंचना कोई कमाल नहीं,
बुलंदियों पे ठेहराना कमाल होता है।

तुम यहाँ धरती पे लकीरें खींचते हो,
हम वहां अपने लिए नए आसमान ढूँढ़ते हैं,
तुम बनाते जाते हो पिंजरे पे पिंजरा,
हम अपने पंखों में नयी उड़ान ढूँढ़ते हैं।

खुल कर तारीफ भी किया करो,
दिल खोल हंस भी दिया करो,
क्यों बांध के खुद को रखते हो,
पंछी की तरह भी जिया करो।

सफर में धुप तो होगी जो चल सको तो चलो,
सभी हैं भीड़ में तुम भी निकल सको तो चलो,
किसी के वास्ते राहें कहाँ बदलती हैं,
तुम अपने आप को खुद ही बदल सको तो चलो।

अपने गमो की तू नुमाइश ना कर,
यूँ क़ुदरत से लड़ने की कोशिश ना कर,
जो हे कुदरत ने लिखा वो होकर रहेगा,
तू उसे बदलने की आजमाइश ना कर।

आज बादलों ने फिर साज़िश की,
जहा मेरा घर था वही बारिश की,
अगर फलक को ज़िद है बिजलियाँ गिराने की,
तो हमें भी ज़िद है वही पर आशियाँ बनाने की।

हौसलों के तरकश में ,कोशिश का वो तीर जिन्दा रखो
हार जाओ चाहे Zindagi में सब kuch
फिर भी Jitane की उम्मीद जिन्दा रखो

उड़ा जा तू Panchi बनकर
ना तुझको कोई रोक पायेगा
छु ले जो तू gagan को
हर बन्दा यहाँ तेरे ही गुण गायेगा

तो क्या हुआ जो मै आज हार गया
tumhari तरह किसी को धोखा तो नहीं दिया

अगर अब भी ये खून ना खौला
तो खून नहीं वो सिर्फ पानी है
जो जवानी अपने राष्ट्र
और माता पिता के काम ना आए
बेकार वो जवानी है

मंजिल मिले या न मिले
ये तो किस्मत की बात है
हम पाने की कोशिश भी न करे
ये तो कोई बात नहीं

आज वही है जिन्दा, जिसमे आस जिन्दा है,
आज वही है जिन्दा, जिसमे प्यास जिन्दा है,
सांस लेने का नाम ही जिंदगी नहीं यारो
जिन्दा वही है, जिसमे विश्वास जिन्दा है!!

परिंदों की उड़ान बाकी हैं
रंगों की पहचान बाकी हैं
तुम अभी हौसला मत खोना मेरे दोस्त
क्योकि अभी तो तेरी
सबसे जबरदस्त चाल बाकी हैं

किस्मत का कोई पता नहीं
पर सुना है MEHNAT से सब कुछ मिलता है

जुड़ गया हु इस MITTI से
आज ऊपर हु तो कल निचे
बस ऐसा इतिहास बनाने की इच्छा है
जमाना YAAD करे मुझे मेरे पीछे

जिंदगी की राहो में आदमी अकेला होता है,
सफलता में हर कोई उसके साथ होती है,
जिस-जिस पर ये दुनिया हँसी है,
सिर्फ उसीने इतिहास रचा है…

Success

सपना पूरा करना हैं
तो तपना पड़ेगा
हर दिन हर रात
खुद को खुद से लड़ना पड़ेगा

लोग कहते है TARE टूटे तो
खवाइश मांग लेना
लेकिंग हमें KISMAT से नहीं
मेहनत से आसमान चाहिए

मेरी शुरुवात जब होगी तुम्हारी
सोच से बोहोत बड़ी होगी
तुम सोचते रहे जाओगे और मेरी
अलग दुनिया खड़ी होगी

जिस कामयाबी की तलाश है
वो तेरे ही अन्दर है ताक़त बनकर

आज जो तकलीफ है
वही आने वाले KAL का सुकून है
अंदाज़ है ये हमारा गुरूर नहीं
तुम बुरा मान जाओ तो हमारा कसूर नहीं

क्या सफलता पाओगे अगर
रहते हो निर्भर गैरों पर
मंजिल तो उसके कदमों चूमती हैं
जो चलता सिर्फ अपने पैरों पर

सफलता एक दिन में नहीं मिलती
पर अगर सफलता पानी है
तो हर दिन कीमती है
और सफलता 1दिन जरुर मिलती है

Leave a Comment