100+ Long-Distance Shayari in Hindi

100+ Long-Distance Shayari: A heartwarming collection of Hindi poetry that beautifully articulates the emotions and challenges of love and relationships across miles. These verses resonate with the ache, longing, and hope that distance can bring, making them the perfect companion for those navigating the complexities of long-distance connections. Share the sentiments, bridge the gap, and keep the flame of love alive with these heartfelt shayari.

Long-Distance Shayari

दूर रहना आपका हमसे सहा नहीं जाता,
जुदा हो के आपसे हमसे रहा नहीं जाता,
अब तो वापस लौट आईये हमारे पास ,
दिल का हाल अब किसी से कहा नहीं जाता।

वो मुझसे दूर रहती है पर उसकी तस्वीर मेरी आँखों के,
मेरे दिल, के और मेरे सीने के नज़दीक रहती है।

चाहे कितने भी दूर क्यू ना रहे
मेरे दिल के सबसे करीब हो तुम

कभी सुबह होती थी आपको देख कर,
आपको देख कर ही चांद निकलता,
अब आलम कुछ यूं हैं मेरे महबूब,
कि ये जुदाई का मौसम है हमें खलता

इन दूरियों की ना परवाह कीजिये,
दिल करे जब हमे पुकार लीजिये,
ज्यादा दूर नहीं हैं हम आपसे,
बस एक कॉल करके हमे बुला लीजिये।

काश मेरी एक ख्वाहिश पूरी हो मेरी इबादत के बगैर,
वो आकर मुझे अपने गले लगा ले मेरी इजाजत के बगैर।

दिल में प्यार इतना हो की
फासले बीच की दूरी न बन सके।

कौन कहता है दूर रहेने से
प्यार कम हो जाता है
एक बार सॅचा प्यार करके देखो

दिन ये कट जाते हैं लेकिन,
रातें चांद को देख कर हैं कटती,
बैंगलोर से दिल्ली तक की दूरी,
सात समंदर पार जैसी है लगती।

न जाने किस तरह का
इश्क निभा रहे हैं हम,
पास रह नहीं सकते फिर
भी साथ निभा रह हैं हम।

आप खुद नहीं जानती आप कितनी प्यारी हो
जान तो हमारी, पर जान से प्यारी हो.
दूरियों के होने से कोई फर्क नहीं पड़ता
आप कल भी हमारी थी आज भी हमारी हो

दूरियों की वजह से थोड़ी देर लगती है
मिलने में, पर ये दूरियां
हमारा मिलान नहीं रोक सकती।

चाहे तुम दूर हो मुझसे,
पर हमेशा मुझमें शामिल हो,
इन फासलों के बाद फिर
हमारा इश्क होगा कामिल।

यह कैसा सिलसिला है
तेरे मेरे दरमियान
फासले तोह बोहोत है
मगर मोहब्बत कम् नहीं होती।

प्यार न हो तभी इश्क़ मरता है,
वरना दूरियां कभी
मोहब्बत की कातिल नहीं होती हैं।

दूर रहकर भी तुम रहते हो मेरे पास,आपकी
हर बात मेरे लिए है खास, यकीन करो,करो
मेरी बात पर विश्वास, कितना खूबसूरत है
आपके होने का एहसास।

दिल नज़दीक होने चाहिए,
प्यार के लिए शरीर का नज़दीक होना कोई ज़रूरी नहीं।

ट्रस्ट तो है तुमपे .
पर इनसेक्यूर होना भी तो ग़लत न्ही

दूरियाँ है हमारे बीच लेकिन दिलों में हमारे प्यार है,
जीतेंगे हम ही एक दिन होगी इन फासलों की हार है।

ये दूरियां लेती हैं,
सबके प्यार का इम्तिहां,
उन्हें भी साबित करना पड़ा था,
जिन्होंने कर दी थी प्यार की इन्तेहां।

हमें सीने से लगाकर हमारी सारी कसक तुम दूर कर दो,
हम सिर्फ तुम्हारे रह जाऐ हमें तुम इतना मजबूर कर दो।

यदि प्रेम समय की कसौटी पर खरा नहीं उतर सकता है,
तो यह प्रेम की परीक्षा में विफल रहा है।

माना के मैं तुमसे रोज मिल न्ही पाता
पर इस दिल मैं सिर्फ़ तेरी जगह है
इसलिए ये दिल कही न्ही जाता

हमारे बीच की ये दूरी अब सही नहीं जाती,
शाम सवेरे अब सिर्फ तेरी याद है आती,
तेरे साथ की आदत लगी थी इस कदर,मुझे
इन दिनों अपनी सहेलियां भी नही भाती।

सच्चे प्यार के रिश्ते किसी बहाने से कमजोर नहीं पड़ते,
चाहे कितने भी दूर रहे, पर अपने सनम को नहीं भूलते |

माना तुमसे दूर हूँ मैं,
पर तुम्हारा दिल तो मेरे ही पास है।

बात तो रोज होती है
पर थोड़ी देर भी अगर बात ना हो
तो मेरी दुनिया थम्सि जाती है

सच्ची मोहब्बत के आगे ये दूरियां भी हार जाएंगी,
पतझड़ के मौसम के बाद, जीवन में फिर बहार आएगी।

तुम पूछती हो न मुझे सोने जाने की इतनी
जल्दी क्यों होती है, तो सुनों क्यूंकि रोज़
सपनों में मेरी तुम से मुलाक़ात होती है।

आप की यादें अमानत हैं हमारी,
आप..की ख़ुशी चाहत है हमारी,
आप से वफ़ा फितरत है हमारी,
पर…
आप से दूरी शायद किस्मत है हमारी!

प्यार के लिए नज़दीक होना ज़रूरी नहीं है,
नज़दीकियां होना ज़रूरी है।

हमने तो तुम्हे अपना खुदा माना है
चाहे जहा भी रहें
तेरा हे नाम जाब्ते रहेंगे

हमारे बीच है दूरियां, लेकिन दिलों में प्यार है,
जाना, ये हमारी नहीं, इन फासलों की हार है।

थोड़ी दूरियाँ भी ज़रूरी है,ज़िन्दगी में,
किसी के इतने करीब भी न जाओ,
की वो दूर चला जाये.

बहुत ख़ास है ये प्यार,
और तेरे प्यार का एहसास के लिए तेरा मेरे पास होना ज़रूरी नहीं।

फासला रख कर भी इन दूरियों
को क्या हासिल हुआ,
मैं तो आज भी उसका ही कहलाता हूँ,
और उसी का कहलाऊंगा।

ये सोचता हूँ अक्सर की मेरे
बिना अब तुम किसे सताती हो,
सच बताओ मेरे बिना रात को
तुम चैन से सो भी पाती हो?

दूरियों से फर्क नहीं पड़ता,
बात तो दिल की नजदीकियों की है,
दिलों के रिश्ते तो किस्मत बनाती हैं,
वरना मुलाकात तो न जाने कितनों से होती है।

तू कितना दूर है मुझसे,
मैं कितना पास हूँ तुझसे,
तेरे पास आना भी कितना मुश्किल और
तुझे पास बुलाना भी कितना मुश्किल।

समय को भी हथकड़ी
लगाने का मन करता है,
जब पास मेरे तु होता है।

उसे याद करने के हज़ार बहाने हैं,
मगर उसके पास जाने का एक भी नहीं |

ये सारी दूरियाँ तो मिटा दूँ
मैं एक पल में मगर,
आप कभी बुलाएँगे नहीं और
बिना बुलाये हम कभी आएंगे नहीं।

बात बात पे तेरा रूठ जाना
और फिर बाद मैं मुझे प्यार से समझना
क्या यही है सॅचा प्यार

न घर एक, न गली एक, न शहर एक,
फिर भी लगता है कि तुम दिल के पास हो,
शायद इसलिए कि हमारा आसमां है एक।

ना रही अब कोई जुस्तजू
इस दिल में तेरे बिना ए मेरे सनम,
मेरी पहली आरज़ू भी तू
और आखिरी भी बस तू ए मेरे सनम |

माना की तुम दूर हो मुझसे,
पर ये दूरी तुम्हारे पास आने का मज़ा दोगुना कर देती हैं।

आसान न्ही है तुमसे दूर रहना
प्यार करते है इसलिए
इंतेज़ार करते है तुम्हारा

याद आती हो तुम, तो ये आंखें भर आती हैं,
दिन कट जाते हैं, ये रातें बहुत सताती हैं,
खुश किस्मत हूं कि साया हो तुम मेरा,
जैसे चांदनी, चांद का साथ निभाती है।

ज़िंदगी मे जब आपसे ज़्यादा आपकी फिक्र कोई करने लगे,
तो ज़िंदगी बहुत खूबसूरत बन जाती हैं…

माना तुम दूर चले गए चलते-चलते,
पर इश्क़ के चलते हम कभी दूर नहीं हो सकते।

तुम्हारी कमी हमेशा.
महसूष होती है हमें

मेरी ज़िन्दगी का हर
पल हसीन हो जाए।
अगर मेरी मोहब्बत
मुझे नसीब हो जाये।।

खुश नसीब होते है बादल जो दूर रहकर भी,
जमीन पर बरसते है और एक बद्नसीब हम है,
जो एक ही दुनिया में रहकर मिलने को तरस्ते है।

सितारे भी उस दिन टूट
कर ज़मीन पर गिरेंगे,
जब हम इतनी जुदाई के
बावजूद एक बार फिर मिलेंगे।

तुम्हारी फ़िक्र है मुझको,
तुम पर कोई शक नहीं
मेरे सिवा कोई और देखे,
यह किसी और को हक़ नहीं।

दूरियों की ये रातें लम्बी लगती हैं, मेरी रूह से रूह तक ये बातें लम्बी लगती हैं।

मेरी ये राहें तुझसे मिलने को हैं, पर दूरियों की ये फासले कुछ कहते हैं।

तेरी बातों का इंतजार करता हूँ, दूरियों में भी, तू मेरी ज़िन्दगी का हिस्सा है।

चाँद से ज्यादा दूरियों की बातें, इन रातों में तेरी यादें मेरी साथ हैं।

रातें लम्बी होती हैं, दूरियां भी, पर तेरी आँखों में है रात की चाँदनी।

दूर रहकर भी तू मेरे करीब है, तेरी मुस्कान मेरी रातों का रौशनी है।

दूरियों की ये बातें भी कुछ कहती हैं, तेरी यादों में भी अलग ही बात है।

चाँद से भी दूर, तेरे साए की बात है, तू मेरे दिल में, यही एक बात है।

रातों की ये छाँव, दूरियों की हवा, तेरी बातों में ही मेरी ज़िन्दगी की राह है।

चाँदनी रातों में भी दूरियां खास हैं, तेरी आँखों की चमक में ही सारा सवेरा है।

Leave a Comment