100+ Bewafa Shayari in Hindi | बेवफा शायरी

Experience the pain and heartbreak of love with our collection of Bewafa Shayari in Hindi. These poignant verses will touch your soul, expressing the emotions of betrayal, hurt, and longing that accompany a broken heart. Let the power of words give voice to your pain and provide solace in times of heartache. Our Bewafa Shayari in Hindi captures the essence of lost love, unfulfilled promises, and shattered dreams, resonating with those who have experienced the bitterness of betrayal. Whether you seek solace in shared experiences or find catharsis in expressing your own feelings, our collection offers a refuge for your emotions. Explore our Bewafa Shayari in Hindi and find solace in the beauty of melancholic expression.

Bewafa Shayari

खुदा ने पूछा क्या सजा दूँ उस बेवफा को,

दिल ने कहा मोहब्बत हो जाए उसे भी,

और कोई छोड़ के चले जाये उसे भी !

दिल में आने का तो रास्ता होता है पर,

जाने का नही इस लिए जब भी कोई इंसान जाता है,

दिल तोड़ कर ही जाता है !

तुम क्या जानो बेवफाई की हद ये दोस्त,

वो हमसे इश्क सीखता रहा किसी और के लिए !

हमको दिल से भी निकाला गया, फिर शहर से भी,

हमको पत्थर से भी मारा गया, और जहर से भी !

तेरी बेवफाई का गम तो नहीं,

मगर तू बेवफा है दुःख ये भी कम नहीं !

तुम नहीं मिले तो क्या हुआ,

सबक तो मिल गया !

जहाँ से जी ना लगे तुम वहीं बिछड़ जाना,

मगर खुदा के लिए बेवफाई ना करना !

बेवफा तो वो खुद हैं,

पर इल्ज़ाम किसी और को देते हैं,

पहले नाम था मेरा उनके लबों पर,

अब वो नाम किसी और का लेते हैं !

अपने जुल्म और सितम का हिसाब क्या दोगे,

जब खुद बेवफा हो उसका जवाब क्या दोगे !

अगर तुम अब भी मेरी हो जाओ तो मैं,

दुनिया की हर किताब से बेवफा लफ्ज मिटा दूंगा !

कुछ न मिला तो तेरा ही नाम लिखूंगा,

ओ बेवफा मैं तुझी पर सारे इल्जाम लिखूंगा !

तेरी बेवफाई ने मेरा ये हाल कर दिया है की,

अब मैं नही रोता मुझे देख कर लोग रोते हैं !

तुम साथ थी तो जन्नत थी मेरी ज़िन्दगी,

अब तो हर साँस ज़िंदा रहने की वजह पूछती है !

खोज तो लेते उन्हें आखिर सच्चा प्यार जो किया था,

पर रोक दी तलाश हमने क्योंकि

वो खोये नहीं बेवफा निकले !

हमें न इश्क़ मिली न मोहब्बत मिली,

हमको जो भी मिला बेवफा यार मिला,

अपनी तो बन गयी बेवफ़ा ज़िन्दगी,

हर कोई जरुरत का तलबगार मिला !

प्यार करना हमें नहीं आता,

इसलिए अपना प्यार हार गए

हमारी ज़िन्दगी से उन्हें बहुत प्यार था,

इसलिए वो बेवफा हमें जिंदा ही मार गए !

किसी से इतनी उम्मीद न करें कि

आशा के साथ-साथ आप भी टूट जाएं !

ये मोहब्बत करने वाले भी बहुत अजीब हैं,

वफा करो तो रुलाते हैं और बेवफाई करो तो रोते हैं !

इश्क करने का नतीजा दुनिया मे हमने बुरा देखा,

जिनसे वादा था वफा का उन्हें भी हमने बेवफा देखा।

New collection of Bewafa Shayri

Bewafa Shayri: आज इस पोस्ट में बेवफा शायरी शामिल की गई है। प्यार में बेवफा वह है जो वफादारी नहीं करता; बेवफा अपने आशिक का दर्द नहीं जानता। हमने इस पोस्ट को बनाया है ताकि बेवफा लोग जो प्यार करके चले जाते हैं या किसी का दर्द नहीं समझते, उन लोगों को यह बेवफा शायरी शेयर करें।

हम इश्क में वफा करते करते बेहाल हो गए

और वो बेवफाई करके भी खुशहाल हो गए !

दुनिया वालों का भी अजीब दस्तूर है,

बेवफाई मेहबूब से मिलती है,

और बेवफा मोहब्बत बन जाती है !

दूरी और बेरुखी का जब उनसे जवाब माँगा गया,

तो हमें बेवफा बना के हमसे रिश्ता तोड़ने का जवाब दिया !

बादलों ने गरजना छोड़ दिया,

बारिशों ने बरसना छोड़ दिया,

आप तो हमको भूल गए

इसीलिए हमने भी आपके लिए तरसना छोड़ दिया !

अर्ज़ किया है-

वफा-ए दिनों को याद करते है,

तू अब भी मिल जाये फर्याद करते है,

तेरी बेवफाई को अब भी भुला देंगे हम,

वफाओ से तेरी जिन्दगी महका देंगे हम !

तेरा दिया हुआ जख्म मेरे काम आ गया,

भरी महफिल में मैंने बेवफा कहा,

और सब के लबो पे तेरा नाम आ गया !

Leave a Comment