100+Mera Pehla Pyar Ho Tum- Hindi Romantic Shayari

Indulge in the magic of love with our collection of 100+ “Mera Pehla Pyar Ho Tum” – Hindi Romantic Shayari. These verses beautifully express the essence of first love and the emotions it brings. From reminiscing about that special someone to reliving the moments of romance, these Shayaris resonate with the heart’s deepest desires. Whether you’re in the throes of first love or simply want to bask in its nostalgia, these verses capture the beauty of this enchanting experience. Immerse yourself in the world of romantic Shayari and let these words evoke the tender feelings of your first love.

Mera Pehla Pyar Ho Tum

धड़कते हुए दिल का करार हो तुम,
इन सजी महफिलों की बहार तो तुम,
तरसती हुयी निगाहों का इंतज़ार हो तुम,
मेरी जिंदगी का पहला प्यार हो तुम।

एक चाहत है सिर्फ आपके साथ जीने की,
वरना मोहब्बत तो किसी से भी हो सकती है।

ना तो पूरे मिल रहे हो ना ही खो रहे हो तुम,
दिन-ब-दिन और भी दिलचस्प हो रहे हो तुम।

अब आ गए हो आप तो आता नहीं कुछ याद,
वरना कुछ हमको आप से कहना ज़रूर था।

तुम्हारी खुशियों के ठिकाने बहुत होंगे मगर,
हमारी बेचैनियों की वजह बस तुम हो।

हमारे इश्क़ को यूं न आज़माओ सनम,
पत्थरों को धड़कना सिखा देते हैं हम।

मेरी तकदीर संवर जाये उजालों की तरह,
आप मुझे चाह लें अगर चाहने वालों की तरह।

मैं नासमझ ही सही मगर वो तारा हूँ जो,
तेरी एक ख्वाहिश के लिए सौ बार टूट जाऊं।

हम ने सीने से लगाया दिल न अपना बन सका,
मुस्कुरा कर तुम ने देखा दिल तुम्हारा हो गया।

तुमको दे दी है इशारों में इजाज़त मैंने,
माँगने से न मिल सकूं तो चुरा लो मुझको।

लत तेरी ही लगी है, नशा सरेआम होगा,
हर लम्हा जिंदगी का सिर्फ तेरे नाम होगा।

सजा है मौसम तुम्हारी महक से आज फिर,
लगता है हवायें तुम्हें छू कर आयी हैं।

मेरे दिल का कहा मानो एक काम कर दो,
एक बेनाम सी मोहब्बत मेरे नाम कर दो,
मेरे ऊपर एक छोटा सा एहसान कर दो,
एक दिन सुबह को मिलो और शाम कर दो।

तेरी आरज़ू में हमने बहारों को देखा,
तेरे ख्यालों में हमने सितारों को देखा,
हमें पसंद था बस आपका ही साथ,
वर्ना इन आँखों ने तो हजारों को देखा।

ये तेरे इश्क का कितना हसीन एहसास है,
लगता है जैसे तू हर-पल मेरे साथ है,
मोहब्बत तेरी दीवानगी बन चुकी है मेरी,
अब जिंदगी की आरज़ू सिर्फ तेरा साथ।

रोज साहिल से समंदर का नजारा न करो,
अपनी सूरत को शबो-रोज निहारा न करो,
आओ देखो मेरी नजरों में उतर कर खुद को,
आइना हूँ मैं तेरा मुझसे किनारा न करो।

रुका हुआ है अज़ब धूप-छाँव का मौसम,
गुजर रहा है कोई दिल से बादलों की तरह।

की है कोई हसीन खता हर खता के साथ,
थोड़ा सा प्यार भी मुझे दे दो सज़ा के साथ।

मैं वक़्त बन जाऊं तू बन जाना कोई लम्हा,
मैं तुझमें गुजर जाऊं तू मुझमें गुजर जाना।

ना समेट सकोगे क़यामत तक जिसे तुम,
कसम तुम्हारी तुम्हें इतना प्यार करते हैं।

ये तेरे इश्क का कितना हसीन एहसास है,
लगता है जैसे तू हर-पल मेरे साथ है,
मोहब्बत तेरी दीवानगी बन चुकी है मेरी,
अब जिंदगी की आरज़ू सिर्फ तेरा साथ।

मेरे दिल के बगीचे में, तुम गुलाब की तरह खिलते हो,

तुम मेरा पहला प्यार हो, वो जिसे मेरा दिल चुना।

हर धड़कन के साथ, तुम मेरे गीत का ताल हो,

तुम्हारे प्यार में, मैंने वो जगह पाई है जहाँ मैं सच में अपना हूँ।

तुम्हारी मुस्कान, तुम्हारी आंखें, मेरे दिनों को रौशन करती हैं,

तुम्हारे प्यार में, मैंने अपने खास तरीके पाए हैं। तुम हो वो कारण,

जिसके लिए मेरे दिल की धड़कन बढ़ जाती है,

तुम्हारे प्यार में, मेरे जीवन में पूर्णता और मिठास महसूस होती है।

मेरा पहला प्यार हो तुम, तुम हो वो जिसे मैं सराहता हूँ,

तुम्हारे साथ, मेरी कोई और इच्छा नहीं है।

तुम्हारी बाहों में, मैंने अपनी शांति और अनुग्रह पाया है,

तुम मेरा पहला प्यार हो, मेरी शाश्वत गले की गहराइयों में।

तो, चाहे दुनिया बोले जो कुछ भी कहे, तुम्हारे प्यार में, मैं हमेशा रहूँगा।

मेरा पहला प्यार हो तुम, हमेशा तुम होगे, जो मेरे दिल की चाबी को पकड़ता है, तुम्हें देखो।

Leave a Comment