100+ Meri Diary Sad Shayari in Hindi

Explore the depths of emotions with 100+ Meri Diary Sad Shayari in Hindi. This poignant collection of poetic verses delves into the realms of heartbreak, pain, and melancholy. From expressing the complexities of lost love to contemplating the struggles of life, these Shayaris beautifully convey the essence of sadness. With their evocative words and soul-stirring imagery, they offer solace to those going through difficult times. Share these Shayaris with friends, reflect on personal feelings, or seek comfort in poetic expression. Let these Hindi verses be a cathartic outlet, a source of empathy, and a reminder that you are not alone in navigating the trials of life. Embrace the healing power of words and find solace in the melancholic beauty of Meri Diary Sad Shayari.

Meri Diary Sad Shayari

देखी जो नब्ज मेरी हस कर बोला वो हाकिम
जा जमा ले महफिल पुराने दोस्तों के साथ
तेरे हर मर्ज की दवा वही है

तोड़ कर जोड़ लो चाहे हर चीज़ दुनिया की
सब कुछ कबीले-ए-मरम्मत है एतबार के सिवा

ये मरीजें इश्क का हाल है के ये ज़िन्दगी भी बेहाल है
कभी दर्द है तो दावा नहीं जो वादा मिली तो सिफ़ा नहीं

यूँ तो दुनिया में कहेने से सब भाई होते है
मगर साथ रहने से पता लग जाता
कितने इन में कसी होता है

तकदीर के लिखे पर कभी सिकवा ना किया कर
तो इतना अकलमंद नहीं जो खुदा के इरादे समझ सके

मेरी चाहत नहीं बीती अभी कुछ नहीं बदला
अगर चाहो अगर समझो मेरी मनो लौट आओ अबी कुछ नहीं बदला

अपने खिलाफ बातें ख़ामोशी से सुन लो
यकीन मनो वक़्त बेहतरीन जवाब देगा

में गया था सोच कर बात बचपन की होगी
दोस्त मुझे अपनी तरक्की सुनाने लग गए

लिखने वाले ने किया खूब लिखा है
ज़िन्दगी जब मायूस होती है
तभी तो महेसूस होती है

बेशुमार धोखों की सौगात मिलती है उन्हें

जो इंसान दिल के साफ़ होते है

हर तरफ पढ़ाई का साया है,
किताबो मैं सुख किसने पाया है,
लड़के तो जाते है Tution लड़कियाँ देखने,
और Sir कहते है देखो इतनी बरसात में लड़का पढ़ने आया है

दिल का दर्द दिल तोड़ने वाला क्या जाने
प्यार के रिवाज़ों को ये ज़माना क्या जाने
कितनी तकलीफ़ होती है लड़की पटाने में
यह घर बैठा लड़की का बाप क्या जाने

उनकी गली से मेरा जनाज़ा निकला,
वो ना निकले जिनके लिए जनाज़ा निकला,
उनका घर आया तो मेरे दोस्त सिटी बजाने लगे,
रख के मेरा जनाज़ा कमीने उसको पटाने लगे

आप करें न करें याद हम को
हम आप को याद करेंगे
मोबाइल के साथ दफनाना
नेटवर्क मिलेगा तो कब्र से भी SMS बिंदास करेंगे

बेझिझक मुस्कुराये जो भी गम है,
जिंदगी में टेंशन किसको कम है,
अच्छा या बुरा तो केवल भ्रम है,
जिंदगी का नाम ही कभी ख़ुशी कभी गम है

कोई तोह बेवफाओं पे भी टेक्स लगा दो यारो
हम आशिको का भी थोड़ा मुनाफा बढा दो यारों
किसी की तो चार चार हैं और किसी की एक भी नहीं
इश्क को भी अब आधार कार्ड से लिंक करा दो य़ारो

हम तुम्हारी याद में रो-रो के टब भर दिए
तुम इतने बेवफा निकले कि नहाकर चल दिए

मोहब्बत के खर्चों की बड़ी लंबी कहानी है
कभी फिल्म दिखानी है तो कभी शॉपिंग करानी है
मास्टर रोज कहता है कहाँ हैं फीस के पैसे
उसे कैसे समझाऊँ कि मुझे छोरी पटानी है

उसने हाथों पर मेहंदी लगा रखी थी
हमने भी अपनी बारात सजा रखी थी
क्यूंकि हमें मालूम था वो बेवफा निकलेगी
इसलिए हमने भी उसकी सहेली पटा रखी थी

जब दिल टूटता है तो हर कोई कहता है कोई बात नहीं
तुम्हें इससे अच्छी मिल जाएगी
पर कोई ये नहीं समझता के ज़रूरत अच्छे की नहीं होती
इस की होती है जिससे मोहब्बत हो

कुछ सवालों के जवाब वक़्त देता है
और जब वक़्त देता है वो लाजवाब होता है

ज़िन्दगी की रंग मच में अपना किरदार इतनी सित्दत से निभाओ
की पर्दा गिरने के बार भी तालियाँ बझ्ती रहें

ए फरिश्तों तकल्लुफ न करो लिखने का अब
लोगो को याद है सब खताएं एक दुसरे की

जिनको नहीं सुनना होता उन तक चीख पुकार भी नहीं पहुंचती
और जो सुनने वाले है वो तो खामोशियाँ भी सुन लेते है

कुछ बातें ज़बान तक नहीं आतें
और कुछ कान सुन नहीं पाते
और हकीकत में वही बातें बहुत एहम होती है
जो हम सुन नही पाते

अभी तक याद कर रहे हु पागल हु तुम कसम से
उसने तेरे बाद भी हजारों को भुला दिया

सामान बाँध किया है मैंने अब बताओ ग़ालिब
कहा रहते है वो जो लोग जो कही के नहीं रहेते

Diary Sad Shayari in Hindi

चुडा कर हाथ नरमी से यही कहती है मुझ को
अभी तक गैर मरहूम हूँ तुम्हारी कुछ नहीं लगती

बहुत देर लगी लेकिन ये जान गया
ज़रूरत होती है सब को ज़रूरत कि हद तक

ज़िन्दगी कभी कभी ऐसी ठुकर मरती है के
इंसान सीधा सजदे में जा गिरता है

ज़िन्दगी में दो लोगो से डोर रहेना
एक मसरूफ और दूसरा मगरूर
क्यू के मसरूफ अपनी मर्ज़ी से बात करते है
और मगरूर अपने मतलब के लिए याद करते हैं

लोग कहते है किरदार पे बात आजाये तो सफाई देना ज़रूरी हु जाता है
में कहता हूँ किरदार पे बात आजाये तो बात ही ख़तम हो जाती है

बाज़ औकात ख़ामोशी इख्तियार नहीं मजबूरी होती है
इंसान झूट बोलना नहीं चाहता और सच बोल नहीं सकता

Sad Shayari in Hindi

जो तुम्हारी क़दर नहीं करता तुम उसकी उअर भी जायदा क़दर करो
क्यू के ज़िन्दगी के किसी भी मोड़ पर उससे तुम्हारी क़दर का एहसास ज़रूर होगा

जब कोई आप दे कहे के इसे आप में एक खूबी नजर आती है
तो इसे गले लगा ले
क्यू के नादान लोगो को प्यार और तवाज्जा की ज़रूरत होती है

हमेशा सच बोलो ताके तुम्हें
कसम खाने की ज़रूरत ना पड़े

ये कहेना बड़े कमाल की बात है
कि मुझ में कोई कमाल की बात नहीं है

नहीं तुम से कोई सिकायत बस इतनी सी इल्तेज़ा है
जो हाल कर गए हो कभी देखने मत आना

मत पूछ सनम हम से प्यार में किस रह से गुजरे
ये देख के तुझ पर कोई इलज़ाम भी न लगा पाया

दिल टूटा है मेरा, ख्वाबों का जहां है, रातें रोती हैं, सिर्फ तेरी मुस्कान है।

रातें लम्बी हैं, दिल उदास है, खो गए हम, तुम्हारे बिना ये जहां है।

ख्वाबों का सफर, सपनों का क्या करूँ, बस तेरा होना चाहिए, मेरी तक़दीर में बस यही है।

दर्द की रातें, आँसुओं का समंदर है, जिंदगी बेरंग है, मोहब्बत का इक दस्तूर है।

तुम्हारी बेरुख़ी में भी है कुछ बातें, जब से तुम गए, दिल बेरुखी से भरा रहा है।

रिश्तों की मोहब्बत में कभी ना कभी, हर किसी को धोखा मिलता है, ये जिन्दगी का क़ायमत है।

दिल का दर्द सबको मिलता है, मोहब्बत की बातें सबको ही बख्शी जाती हैं।

ख्वाब बिखर गए, रातें रोई हैं, तुम्हारी यादों में दिल है तन्हा रोई है।

तेरी यादों का खुमार है, दिल को बहुत सताती है, तेरे बिना रातें लम्बी हैं।

जब से वो चले गए, दिल मेरा बेराहम है, आँसुओं का क़ातिल है।

रातें कटती नहीं, दिल उदास है, तेरी बिना जीना, ये एक सजा है।

मोहब्बत में बर्बाद हो गए हम, दिल टूटा है, रातें बहुत खामोश हैं।

दिल की दहलीज़़ में बसी है तेरी याद, जिंदगी बेहद रूठी, तू मेरी ज़िन्दगी में कहाँ है।

आँसुओं की नदी बहा करते हैं हम, दिल को बहुत तरसाते हैं हम।

दिल की धड़कनें बेहद तन्हा महसूस होती हैं, तेरी बेरुख़ी में, दिल को बहुत दर्द होती है।

रातें लम्बी हैं, चाँदनी रातें भी तन्हा हैं, तेरी बिना जीना, ये ज़िन्दगी की सजा है।

तेरे बिना ज़िन्दगी खोजता हूँ, मोहब्बत का सफर बहुत ही बेहद है।

दिल की बातें कहने को दिल तरस रहा है, तू मेरे बिना, दिल को बहुत बेचैन कर रहा है।

रात का अंधेरा, दिल की तन्हाई, तेरी यादों में, हर पल है बेहद रूला है।

दिल की गहराईयों में छुपी है पैन, तू बहुत याद आता है, मेरे दिल को बहुत बहुत रुलाता है।

रातें बेहद तन्हा हैं, दिल बेहद उदास है, तेरे बिना जीना, ये एक जुर्म है।

मोहब्बत का इलाज़ करते हैं हम, पर दिल को बहुत दर्द है, तू बेरहम है।

रातें बेहद लम्बी हैं, दिल को बहुत सताती है, तेरे बिना जीना, ये एक क़ैद है।

दर्द भरी रातें, ख्वाबों में तेरा इंतजार है, दिल टूटा है, ये बस तेरी बेरुख़ी का इलाज़ार है।

ख्वाबों का जहां टूटा है, दिल बेरहम है, तू मेरी ज़िन्दगी में, एक ख़्वाब था, जो बस ख्वाब ही रहा है।

दिल को छू जाने वाली बातें, तेरे बिना रातें,
जिंदगी में हर कदम पर एक ही सवाल है, तू कहाँ है?

मोहब्बत में बेहद दर्द है, रातें बेहद लम्बी हैं, दिल को बहुत सताती है, तेरे बिना ये ज़िन्दगी कमजोर है।

रातों में जागते हैं, ख्वाबों की दुनिया में, दिल बेहद उदास है, तेरे बिना ये ज़िन्दगी बेहद कठिन है।

तेरे बिना जीना, ये बहुत मुश्किल है, रातें बहुत लम्बी हैं, दिल बहुत उदास है।

दिल की गहराईयों में बसी है तेरी याद, रातें बेहद तन्हा हैं, दिल बहुत बेहद उदास है।

मोहब्बत की राहों में बिछी हैं रातें, तेरी बेरुख़ी में, दिल को बहुत सताती है।

रात की तन्हाई, दिल की बेहद उदासी, तेरी बिना जीना, ये कैसी ज़िन्दगी है।

दिल की बातें तेरी यादों में बसी हैं, रातें बेहद लम्बी हैं, दिल बहुत उदास है।

मोहब्बत में बिखरा हूँ, रातें बेहद लम्बी हैं, तेरे बिना जीना, ये कैसा सजा है।

रातें बेहद लम्बी हैं, दिल बहुत उदास है, तेरी यादों में, हर पल है बहुत बेहद रूला है।

दिल की दहलीज़़ में बसी है तेरी याद, रातें बेहद तन्हा हैं, दिल बहुत बेहद उदास है।

रात की तन्हाई, दिल की बेहद उदासी, तेरी बेरुख़ी में, दिल को बहुत सताती है।

मोहब्बत का सफर, रातें बेहद लम्बी हैं, तेरे बिना जीना, ये ज़िन्दगी बेहद कठिन है।

रात की तन्हाई, दिल की बेहद उदासी, तेरी यादों में, हर पल है बहुत बेहद रूला है।

दिल की दहलीज़़ में बसी है तेरी याद, रातें बेहद तन्हा हैं, दिल बहुत बेहद उदास है।

तेरे बिना जीना, ये बहुत मुश्किल है, रातें बहुत लम्बी हैं, दिल बहुत उदास है।

मोहब्बत में बेहद दर्द है, रातें बेहद लम्बी हैं, दिल को बहुत सताती है, तेरे बिना ये ज़िन्दगी कमजोर है।

रातों में जागते हैं, ख्वाबों की दुनिया में, दिल बेहद उदास है, तेरे बिना ये ज़िन्दगी बेहद कठिन है।

तेरे बिना जीना, ये बहुत मुश्किल है, रातें बहुत लम्बी हैं, दिल बहुत उदास है।

रात की तन्हाई, दिल की बेहद उदासी, तेरी यादों में, हर पल है बहुत बेहद रूला है।

Leave a Comment