100+ Love Poem in Hindi | प्यार पर हिंदी कविता


Indulge in the enchanting world of love through our collection of 100+ exquisite love poems. Each verse is a journey into the depths of emotions, capturing the essence of passion, longing, and connection. Whether you’re experiencing the magic of new love or cherishing a timeless bond, these poems evoke sentiments that words alone can’t express. From delicate whispers of affection to the grand symphony of devotion, these poems are a celebration of love’s myriad facets. Dive into this treasury of heartfelt verses, perfect for sharing with your beloved or finding solace in the realm of romance.

Love Poem

तेरा हाथ मेरे हाथों में रह जाए
तो अच्छा है,

ये जीवन यूँ ही साथ गुजर जाए
तो अच्छा है !

सबको पता है की मेरी
गजल हो तुम,

पर ये खबर तुम तक पहुंच जाए
तो अच्छा है !

की चल रहा है दिल मेरा
बहके हुए शराबी सा,

बस अब ये तुम्हारे ही पास
रह जाए तो अच्छा है !

की तेरा हाथ मेरे हाथों में रह जाए
तो अच्छा है !

मेरे जिस्म की रूह हो तुम
बेखयाली में भी खयाल हो तुम,

नींद में सपने हो तुम
गैरों में अपने हो तुम,

दिल की धड़कन हो तुम
हर मुस्कुराहट में बसते हो तुम,

कभी हसाते हो तुम
कभी रुलाते हो तुम,

हर पल याद आते हो तुम !!

मुझे नींद नहीं आएगी
तो मुझे सुला पाओगे क्या,

मैं नासमझ हूँ बहुत मुझे,
हर बात समझा पाओगे क्या,

हाँ माना थोड़ा ज्यादा गुस्सा आता हैं,
पर मेरे गुस्से मे प्यार ढूंढ़ पाओगे क्या !

मैं चलना चाहती हूं तुम्हारे साथ
कुछ इस तरह की अगर गिरूं
तो उठने की जरूरत ही ना हो !

मैं खिलना चाहती हूं तुम्हारी,
खुशबू से कुछ इस तरह !

कि मैं मुरझाऊं तो इत्र की जरूरत ही ना हो,

मैं सजना चाहती हूं तुम्हारे उन
अल्फाजों से इस तरह,
कि मैं पहनूं तो गहनों की जरूरत ही ना हो !

मैं बंधना चाहती हूं तुम्हारी आत्मा से कुछ इस तरह
की जिस्मों को बांधने की जरूरत ही ना हो !!

मैंने कहा वो अजनबी हैं
दिल ने कहा ये लगी हैं,

मैंने कहा वो दूजा हैं
दिल ने कहा फिर भी अपना हैं !

मैंने कहा वो दो पल की मुलाकात हैं
दिल ने कहा जो दो पल में पूरी जिन्दगी,
जी ले यही तो प्यार हैं !

मैंने कहा वो मेरी भूल हैं
दिल ने कहा फिर भी कबुल हैं,

मैंने कहा वो मेरी हार हैं
दिल ने कहा यही तो प्यार हैं !

तू इजाजत दे या न दे,
तेरी इबादत करता रहूंगा,

तू प्यार करे या ना करे,
मैं इजहार हर लम्हा करता रहूंगा !

तू मिले या ना मिले कोई शिकवा नहीं,
बस तेरी यादों में तुझसे मिलता रहूँगा,

दिल में ना बस सका मै तेरे,
पर तेरे ख्यालों में जरूर आऊंगा !

तू इजाजत दे या न दे,
तेरी यादों को ही सहारा बनाऊंगा,

तू परवाह करें या ना करें,
पर मैं आखरी सांस तक परवाह करता रहूंगा !

तू जिस्म की चाहत नहीं,
मेरी रूह की इबादत है,

जितने फासले है तेरे मेरे दरमियां,
उतनी ही शिद्दत से मोहब्बत करता रहूंगा !

तू इजाजत दे या न दे,
तेरी इबादत करता रहूंगा !

हर एक गम हर एक खुशी,
तुम्हारे साथ बाटनी है,

क्योंकि अब हमे सारी जिंदगी,
तुम्हारे साथ ही बितानी है !

महकता एहसास हो तुम,
कोई फूल गुलाब हो तुम,
ठंडक का फरमान हो तुम !!

कोई उजला चांद हो तुम,
क्षितिज सी अनंत हो तुम,
किसी ध्रुवतारे सी हो तुम !!

इनायतों का अंबार हो तुम,
मोहब्बत का दीदार हो तुम,
पतझड़ की बाहर हो तुम !!

प्यासे दिल का जाम हो तुम,
धधकती हुई आग हो तुम,
सूखे में बरसात हो तुम !!

धड़कनों की तार हो तुम,
इस नाचीज की जान हो तुम !!

मुझे अपनी जान बना लो,
अपना अहसास बना लो,

सीने से लगा लो आज,
मुझे अपनी रात बना लो आज,

मुझे अपना अल्फाज बना लो,
अपने दिल की आवाज बना लो,

बसा लो अपनी आँखों में,
मुझे अपना ख़्वाब बना लो,

मुझे छुपा लो सारी दु़निया से,
अपने ए़क गहरा राज बना लो,

आज बन जाओ मेरी मोहब्बत,
ओर मु़झे अपना प्यार बना लो !

दुनिया में बहुत कुछ देखने को,
इन आँखों को बास तू अच्छा लगता है,

पास तो बहुत कुछ है मेरे,
लेकिन तुझे खोने का डर लगता है,

वैसे तो 100 दर्द हैं इस दिल में,
लेकिन तुझे देख लूँ तो सब अच्छा लगता है,

कभी-कभी तू मुझे देखकर भी अंजान बनता है,
ये मुझे अच्छा लगता है,

तू हो या ना हो मेरे पास लेकिन तेरी यादें,
मेरे पास है ये सोच के अच्छा लगता है,

तेरी मोहब्बत में तेरे संग बिताया हुआ,
हर पल अच्छा लगता है,

वैसे तो बहुत कुछ सुनाने को,
लेकिन तेरी कहानियां सुनाना अच्छा लगता है !

Leave a Comment